Tuesday , July 23 2024

World Cup 2019: डेल स्टेन चोटिल, कप्तान डु प्लेसिस ने IPL को ठहराया जिम्मेदार!

क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 में आज टीम इंडिया अपना पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के साथ खेलेगी. लेकिन इस मैच से एक दिन पहले साउथ अफ्रीकी टीम को करारा झटका लगा जब उसकी तेज गेंदबाजी के अगुआ डेल स्टेन कंधे के चोट से उबरने में नाकाम रहने के कारण विश्व कप से बाहर हो गए. विश्वकप में अपने दो मैच हार चुकी साउथ अफ्रीकी टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस डेल स्टेन की चोट के लिए इशारों इशारों में आईपीएल के जिम्मेदार ठहराया है. डुप्लेसिस यह जरूर सोच रहे हैं कि अगर स्टेन ने आरसीबी की तरफ से वे दो मैच नहीं खेले होते तो फिर क्या होता.

डुप्लेसिस ने कहा, ‘‘अगर उसे आईपीएल में नहीं चुना जाता तो कौन जानता है कि डेल अभी किस स्थिति में होता. हम इस पर नियंत्रण नहीं कर सकते.’’

उन्होंने मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘डेल वास्तव में टीम में वापसी के लिये कड़ा संघर्ष किया था. उसके लिये पिछले ढाई साल काफी मुश्किल भरे रहे और अभी उसे समर्थन की जरूरत है. उसे अभी प्यार की जरूरत है.’’
डुप्लेसिस ने कहा, ‘‘यह उसके लिये मुश्किल समय है. उसने फिट होने के लिये कड़ी मेहनत की थी. वह टूर्नामेंट से पहले तक अच्छी गेंदबाजी कर रहा था और उसने आईपीएल में अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की थी. दुर्भाग्य से उसने आईपीएल में जो दा मैच खेले उनमें वह चोटिल हो गया.’’

स्टेन ने नेट पर अभ्यास भी किया था लेकिन वह कभी अपनी लय में नहीं दिखे. उन्होंने सोमवार को हाशिम अमला को गेंदबाजी भी की थी.

दक्षिण अफ्रीका ने प्रतियोगिता तकनीकी समिति से मंजूरी मिलने के बाद उनकी जगह बायें हाथ के तेज गेंदबाज ब्यूरान हेंडरिक्स को टीम में शामिल किया है. पैंतीस वर्षीय स्टेन का कंधा आईपीएल के दौरान दूसरी बार चोटिल हो गया था. उन्होंने आईपीएल में रायल चैलेंजर्स बेंगलोर की तरफ से दो मैच खेले थे.

मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘आईसीसी ने पुष्टि की है कि आईसीसी विश्व कप 2019 की प्रतियोगिता तकनीकी समिति ने बाकी टूर्नामेंट के लिये दक्षिण अफ्रीकी टीम में डेल स्टेन के स्थान पर ब्यूरोन हेंडरिक्स को शामिल करने की मंजूरी दे दी है.’’ इसमें कहा गया है, ‘‘गेंदबाज स्टेन को दूसरी बार कंधे में चोट लगी जिस पर उपचार का खास असर नहीं पड़ा. इस वजह से वह निकट भविष्य में गेंदबाजी नहीं कर पाएंगे. उनकी जगह पर चुने गये हेंडरिक्स बायें हाथ के तेज गेंदबाज हैं.’’

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch