Monday , July 22 2024

धोनी जैसी गंदगी हमेशा नहीं रहेगी, अंबाती रायडू तुम फिर से खेलो: योगराज सिंह

क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह अक्सर महेंद्र सिंह धोनी को लेकर अपनी नाराजगी जताते रहते हैं। हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने वाले युवराज के पिता ने एक बार फिर धोनी को लेकर बड़ा बयान दिया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर योगराज सिंह ने अंबाती रायडू के संन्यास को लेकर धोनी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि वे रायडू के संन्यास लेने के फैसले से काफी दुखी हैं और उन्होंने जल्दबाजी में ये फैसला किया।

एनएनआईएस स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए योगराज सिंह ने कहा, “अंबाती रायडू को खेलते रहना चाहिए था। उसमें अभी भी क्रिकेट बाकी है। रायडू मेरे बच्‍चे तुमने जल्‍दबाजी में फैसला लिया है। संन्‍यास से वापस आओ और उन्‍हें अपनी काबिलियत दिखाओ।” इसके साथ ही युवी के पिता ने धोनी को निशाने पर लेते हुए कहा, “रायडू तुम वापस आओ। एमएस धोनी जैसे लोग हमेशा नहीं रहते, उसके जैसी गंदगी हमेशा नहीं रहेगी।”

CricTracker

@Cricketracker

“Rayudu, my son you took the decision in haste. Come out of retirement and show them what you are capable of. People like MS Dhoni will not remain forever, filth like these will not remain forever.” – Yograj Singh. https://www.crictracker.com/filthy-people-like-ms-dhoni-will-not-remain-forever-says-yograj-singh-on-ambati-rayudus-retirement/ 

‘Filthy’ people like MS Dhoni will not remain forever, says Yograj Singh on Ambati Rayudu’s…

He also felt that the Hyderabad cricketer retired in haste.

crictracker.com

437 people are talking about this

योगराज ने अंबाती से अपील की है कि वो अपने फैसले को वापस लें और घरेलू क्रिकेट में रन बनाकर खुद को साबित करें। दरअसल, अंबाती रायडू ने क्रिकेट को हाल ही में अलविदा कह दिया था, इसके पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि वो विश्व कप टीम में जगह ना मिलने से आहत थे।

भारत के लिए एक टेस्ट मैच और 6 वनडे खेलने वाले योगराज सिंह ने रायडू के संन्यास का कारण महेंद्र सिंह धोनी को बताया है। उन्होंने कहा कि सौरव गाँगुली युवाओं को मौका देते थे, जबकि धोनी ने ऐसा नहीं किया। योगराज ने कहा कि रायडू को खेलते रहना चाहिए था और उन्हें घरेलू क्रिकेट में रन बनाकर खुद को साबित करना चाहिए, क्योंकि उनमें अभी काफी क्रिकेट बाकी है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch