Sunday , May 19 2019

कही-अनकही सचकही

ये “हिंदू आतंकवादी” वाली सोच क्या है ? ये “हुआ तो हुआ” सोच है क्या?

प्रखर श्रीवास्तव ये “हिंदू आतंकवादी” वाली सोच क्या है ??? ये “हुआ तो हुआ” सोच है क्या ??? “बड़ा बरगद गिरता है तो धरती तो हिलती ही है” ये सोच है क्या ??? अगर आप लोगों को लगता है कि इस सोच की शुरुआत 1984 के सिख विरोधी दंगों से ...

Read More »

मणि शंकर अय्यर कांग्रेस के दोस्त या दुश्मन?

सुरेन्द्र किशोर मणिशंकर अय्यर ने ही मंडल आयोग की रपट पर राजीव गांधी को सलाह दी थी। उस सलाह का नतीजा यह हुआ कि व्यापक जनाधार वाली कांग्रेस की छवि आरक्षण विरोधी दल के रूप में बन गई। नतीजतन बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे पिछड़ा बहुल राज्य में 1990 के ...

Read More »

माया से बचें, मायावती की राय!

के विक्रम राव आभासी प्रधानमन्त्री, दलितपुत्री बहन सुश्री कुमारी मायावती ने निर्वाचन आयोग से माँग की है कि पूजा स्थलों से चुनावी प्रचार करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया जाय| ऐसा अभियान पंथ-निरपेक्ष कानून के प्रतिकूल है| मायावती अपने उस्ताद काशीराम के प्रस्ताव का अनुमोदन कर चुकी हैं कि अयोध्या में ...

Read More »

आधुनिक भारत का पहला आतंकवादी गोडसे नहीं बल्कि अब्दुल रशीद है

प्रखर श्रीवास्तव अब्दुल रशीद है आधुनिक भारत का पहला आतंकवादी… जी हां गोडसे नहीं, अब्दुल रशीद ने इस देश की पहली आतंकवादी घटना को अंजाम दिया था… औवेसी साहब, मिस्टर कमल हासन और सिकलुर गैंग के माननीय सदस्यों… महात्मा (गांधी) से भी पहले एक और महात्मा (स्वामी श्रद्धानन्द सरस्वती) की ...

Read More »

Opinion- ममता बनर्जी वोट बैंक के चक्कर में मोदी विरोध के सिलसिले में बहुत दूर तक नहीं जाएंगी

सुरेन्द्र किशोर नरेंद्र मोदी के प्रति पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री ममता बनर्जी के रुख-रवैए को देखते हुए मुझे एक आशंका हो रही है। यदि नरेंद्र मोदी फिर से सत्ता में आ गए तो ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल को कम से कम स्वायत्त प्रदेश बनाने की मांग कर सकती हैं। ...

Read More »

Opinion- मैंने लोगों को कुरेदा, योगी ने कुछ गोरखपुर के लिये किया है, या बस ऐसे ही, मिला ऐसा जवाब

दयानंद पांडेय गोरखपुर से अभी तक उत्तर प्रदेश के दो ही मुख्य मंत्री हुए हैं। दोनों ही क्षत्रिय । एक कांग्रेस के वीर बहादुर सिंह और दूसरे , भाजपा के योगी आदित्यनाथ । 1986 में वीर बहादुर सिंह जब मुख्य मंत्री बने तो गोरखपुर में लोग उन्हें मुख्य मंत्री जी ...

Read More »

कमल हासन, नाथूराम गोडसे और गांधीवाद… एक फैक्ट चेक

प्रखर श्रीवास्तव कमल हासन ने कहा कि गांधी का हत्यारा गोडसे पहला हिंदू आतंकवादी था… यानि गोडसे के नाम पर उन्होने पूरे हिंदू धर्म को कटघरे में खड़ा कर दिया… यानि कमल हासन ने एक तरह से ये कह दिया कि इस देश में आतंकवाद का जनक कोई है तो ...

Read More »

क्लीन चिट तो मिल गई मीलॉर्ड, लेकिन दाग़ अभी मिटे नहीं हैं

राहुल कोटियाल यौन उत्पीड़न मामले में देश के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को क्लीन चिट मिल चुकी है. लेकिन जिस तेज़ी और जिस प्रक्रिया से उन्हें यह क्लीन चिट दी गई, वह भारत के न्यायिक इतिहास में अभूतपूर्व है. एक महीने से भी कम समय में इस पूरे मामले की ...

Read More »

मुस्लिम महिलाओं के इस हक़ की वजह संसद में सबसे भिड गये थे पीएम मोदी, जल्द मिलेगा ये हक़

भदोही में चुनावी रैली में मुस्लिम महिलाओं के तीन तलाक का मुद्दा प्रमुखता से उठाया। पीएम मोदी ने कहा, ‘आज यहां से मैं पूरे हिंदुस्तान की मुस्लिम बहनों से कहना चाहता हूं कि आज दुनिया के मुस्लिम देशों में भी तीन तलाक की प्रथा नहीं है। हम भी भारत की ...

Read More »

पूरा माहौल बनाने के बावजूद कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी को क्यों नहीं उतारा?

हिमांशु शेखर प्रियंका गांधी के वाराणसी से चुनाव लड़ने को लेकर पिछले कई दिनों से चल रहा सस्पेंस खत्म हो गया है. कांग्रेस ने इस लोकसभा सीट से अजय राय को लोकसभा का टिकट देने का ऐलान कर दिया है. पिछली बार भी अजय राय को वाराणसी से उतारा गया था. तब ...

Read More »

लोकसभा चुनाव में एक भी उम्मीदवार न उतारने वाले राज ठाकरे इतनी रैलियां क्यों कर रहे हैं?

दुष्यंत कुमार लोकसभा चुनाव 2019 में एक भी प्रत्याशी नहीं उतारने वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के प्रमुख राज ठाकरे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ख़िलाफ़ अपनी रैलियों को लेकर चर्चा में हैं. इनमें वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ख़ास तौर पर निशाना साधते हैं. राज ठाकरे भाजपा के सबसे ...

Read More »

गुजरात विधानसभा चुनाव के तीन बड़े नायक लोकसभा चुनाव में लगभग बेअसर कैसे हो गए?

पुलकित भारद्वाज लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत गुजरात में मतदान प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. प्रदेश में इस बार 63.73 फीसदी मतदान हुआ है जो 2014 के 63.66 प्रतिशत के मुकाबले .07 प्रतिशत ज्यादा है. कुछ गिने-चुने राजनीतिक विश्लेषक इस बढ़त को ‘अंडरकरंट’ यानी सरकार के प्रति नाराज़गी ...

Read More »

एक समय CJI पर खुद ही सवाल उठा चुके हैं जस्टिस रंजन गोगोई; जानें क्या था पूरा मामला

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने न्यायपालिका के इतिहास में पहली बार 12 जनवरी 2018 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। यह पहला मौका था जब सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों ने देश के सामने आकर सुप्रीम कोर्ट में चल रही कथित अनियमितताओं को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की। उस वक्त सुप्रीम ...

Read More »

कमजोर प्रत्याशी उतार कांग्रेस और सपा ने आसान कर दी राजनाथ की राह

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । मंगलवार को भाजपा की ओर से लखनऊ से नामांकन करने जा रहे राजनाथ सिंह के नामांकन जुलूस में उमड़ा जनसैलाब यह नारा गढ़ रहा था कि कहां फंसे हो चक्कर में, कोई नहीं है टक्कर में। उनके इस नारे पर शाम होते-होते समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ...

Read More »

इनके नाम से ही कांपते थे नेता और पार्टियां, जिन्‍होंने किए चुनाव से जुड़े कई सुधार

नई दिल्‍ली। देश के निर्वाचन आयोग का गठन 25 जनवरी को 1950 को किया गया था। यानी भारत के गणतंत्र बनने से ठीक एक दिन पहले। पहले आम चुनाव के लिए घर-घर जाकर वोटरों का रजिस्ट्रेशन अपने आप में एक इतिहास बनाने जैसा था। हर पार्टी के लिए अलग-मतपेटी थी, ...

Read More »