Monday , October 15 2018

कही-अनकही सचकही

मायावती बुआ, अखिलेश का जुआ…

प्रभात रंजन दीन भारत की राजनीति यूनान की मिथकीय कहानी की खूबसूरत महिला पात्र पैंडोरा की तरह है जिसके हाथ में शिल्प कौशल के देवता एक बॉक्स देकर हिदायत देते हैं, इसे कभी खोलना नहीं. लेकिन जिज्ञासु पैंडोरा उस बॉक्स को खोल देती है और बॉक्स में बंद सारी बुराइयां ...

Read More »

सीएम साहब! कार्रवाई तो ठीक पर आपकी पुलिस इतनी बेअंदाज क्यों?

राजेश श्रीवास्तव बीती रात लखनऊ की जाबांज और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस ने एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम कर रहे होनहार मैनेजर की गोलीमार कर हत्या कर दी और आरोपी सिपाही ने सफाई दी कि उसने सेल्फ डिफेंस में सिर में गोली मार दी। यह सफाई भी रहती तो भी ...

Read More »

न्याय महोत्सव के बाद कितना बदल जाएगा देश

पिछले कुछ दिन से देश की सबसे बड़ी अदालत एक के बाद एक ऐसे फैसले सुनाती जा रही है, जिनका इस देश के लोकजीवन और सामाजिक तानेबाने पर दूरगामी असर पड़ने वाला है. यह एक सुनियोजित संयोग ही है कि देश के बड़े सवालों पर एक साथ फैसले सुनाए जा ...

Read More »

”जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस”

चित्रकूट की महिमा को लेकर एक दोहा मशहूर है-  चित्रकूट मा बसि रहें रहिमन अवध नरेश, जा पर विपदा परत है ते आवत एंहि देश.. कांग्रेस विपदा में है. मध्यप्रदेश में तीन पंचवर्षी से बाहर. देश के अन्य प्रांतों से भी वह मुट्ठी के रेत जैसी सरकती जा रही है. ...

Read More »

व्यभिचार लीगल हो जाने से टूट नहीं जाएगी विवाह संस्था

उच्चतम न्यायालय की पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 497 के साथ-साथ भारतीय दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 198(2) को असंवैधानिक करार दे दिया है और साथ ही सरकार की दलील कि इससे शादी की पवित्रता को आघात लगेगा और विवाह जैसी संस्था कमजोर होगी को ...

Read More »

पति-पत्नी और ‘वो’ का रिश्ता अब अपराध नहीं, अब दिल खोलकर बिना डरे करसकते हैं ब्यभिचार

150 साल पुराने एडल्ट्री कानून पर सुप्रीम कोर्ट ने आज यानि गुरुवार को अपना फैसला सुना दिया है. इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों वाली संवैधानिक पीठ ने एडल्ट्री को परिभाषित करने वाली आईपीसी की धारा 497 की वैधता खारिज करने को लेकर दायर की गई याचिका पर ...

Read More »

हालात गच्चा दे गए, ‘रावण’ मरने से बच गया एशिया कप की इस रामलीला में!

जश्विंदर सिधू  कई बार आप अपना सब कुछ झोंक देते हैं और फिर भी वह नहीं हो पाता जो आप सोचते हैं. पहली बात साफ कर देनी चाहिए कि दुबई और आबू धाबी में चल रहे एशिया कप का मेजबान कोई और नहीं, बल्कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) है. ...

Read More »

एक शर्मनाक हार से बच गई टीम इंडिया

शिवेंद्र सिंह एशिया कप में दूसरी बार हुआ जब कमजोर टीम के खिलाफ भारतीय टीम और उसके फैंस की सांसे थम गईं. ऐसा लगा कि मैच हाथ से निकलने वाला है. एक बार तो गिरते पड़ते जीत मिल गई. दूसरी बार ‘टाई’ से संतोष करना पड़ा. ये दोनों मैच भारत ...

Read More »

बोफोर्स की तरह ही खतरनाक साबित हो रही राफेल

राजेश श्रीवास्तव  इन दिनों देश में राफेल डील को लेकर कोहराम मचा है। राफेल डील को लेकर लोगों को बोफोर्स सौदे की याद आने लगी है। जिस तरह बोफोर्स सौदे की तपिश से पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी, को इमेज को बिगाड़ने का काम पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने ...

Read More »

अखिलेश भूले अपनी हद, बोले- औरंगजेब होता तो उस पत्रकार का सिर कलम कर देता!

एक स्वतंत्र पत्रकार का देश के तमाम पत्रकारों और संपादकों आइना दिखता पत्र यह पत्र प्रकाशनार्थ भेज रहा हूं। मकसद सिर्फ उन संपादकों/ पत्रकारों का जमीर जगाना (हांलाकि जागेगा नहीं) जिन्हें एक पक्षीय बौद्धिक बल दिखाने की आदत सी हो गयी है। जो किसी पंथ या व्यवस्था के आलोचक की ...

Read More »