Thursday , October 18 2018

हमारे कॉलमिस्ट

गंगा मां ने एक को पीएम बना दिया तो कई की ले ली बलि

राजेश श्रीवास्तव Loading... मै आया नहीं, मुझे गंगा मां ने बुलाया है यह कहकर गुजरात से वाराणसी में आकर नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री का पद हासिल कर लिया। गंगा मां ने उन्हें प्रधानमंत्री बनवा दिया लेकिन उसी गंगा मां को स्वच्छ निर्मल बनाने के लिए कई लोगों ने अपना जीवन ...

Read More »

कहाँ ले जायेगा ये अतिविश्वास!

छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में अब महागठबंधन टूटने के बाद संयुक्त मोर्चा बनने के आसार छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में मोर्चा बन सकता है किंग मेकर! राजस्थान में कांग्रेस को अपने सर्वे पर  पूर्ण उम्मीद यूपी से सटे एमपी के क्षेत्रों में ‘जाप’ की दस्तक समीकरणों में करेगी उलटफेर ...

Read More »

……..तो अब रावण दहन क्यों!

 राम, रामायण और रामचरितमानस ने परनारी पर कुदृष्टि को बताया है सबसे बड़े पापों में एक ‘मर्यादा पुरुषोत्तम राम के आदर्शों की अनदेखी कर उनके मात्र मंदिर को लेकर इतना मंथन क्यों?  राहुल कुमार गुप्त मानव शरीर का हेड या सुप्रीम हिस्सा उसका मष्तिष्क ही होता है, अगर वह अनियमित ...

Read More »

योगी राज में आत्महत्या के दंश से जूझती यूपी पुलिस

राजेश श्रीवास्तव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डीजीपी ओपी सिंह भले ही बेहतर पुलिसिंग का दावा करें लेकिन यूपी में जो तथ्य और आंकड़े मिले हैं वह तो कम से कम यही बानगी दिखा रहे हैं यूपी में आईपीएस अधिकारी बेहद दबाव और तनाव में हैं। उत्तर प्रदेश की पुलिस में ...

Read More »

महागठबंधन में महादरार!

*मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव-2018 *जुदा-जुदा राह की कई वजहें *कांग्रेस द्वारा अधिक सीट न देने का मुख्य कारण, भविष्य में अपना प्रतिद्वंद्वी बनाने का महसूस हो रहा खतरा  Loading... *यूपी से सटे क्षेत्रों में सपा, बसपा के अलावा जनअधिकार पार्टी का भी मजबूती से दावा   राहुल कुमार गुप्त कुछ ...

Read More »

मायावती बुआ, अखिलेश का जुआ…

प्रभात रंजन दीन भारत की राजनीति यूनान की मिथकीय कहानी की खूबसूरत महिला पात्र पैंडोरा की तरह है जिसके हाथ में शिल्प कौशल के देवता एक बॉक्स देकर हिदायत देते हैं, इसे कभी खोलना नहीं. लेकिन जिज्ञासु पैंडोरा उस बॉक्स को खोल देती है और बॉक्स में बंद सारी बुराइयां ...

Read More »

सीएम साहब! कार्रवाई तो ठीक पर आपकी पुलिस इतनी बेअंदाज क्यों?

राजेश श्रीवास्तव बीती रात लखनऊ की जाबांज और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस ने एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम कर रहे होनहार मैनेजर की गोलीमार कर हत्या कर दी और आरोपी सिपाही ने सफाई दी कि उसने सेल्फ डिफेंस में सिर में गोली मार दी। यह सफाई भी रहती तो भी ...

Read More »

न्याय महोत्सव के बाद कितना बदल जाएगा देश

पिछले कुछ दिन से देश की सबसे बड़ी अदालत एक के बाद एक ऐसे फैसले सुनाती जा रही है, जिनका इस देश के लोकजीवन और सामाजिक तानेबाने पर दूरगामी असर पड़ने वाला है. यह एक सुनियोजित संयोग ही है कि देश के बड़े सवालों पर एक साथ फैसले सुनाए जा ...

Read More »

”जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस”

चित्रकूट की महिमा को लेकर एक दोहा मशहूर है-  चित्रकूट मा बसि रहें रहिमन अवध नरेश, जा पर विपदा परत है ते आवत एंहि देश.. कांग्रेस विपदा में है. मध्यप्रदेश में तीन पंचवर्षी से बाहर. देश के अन्य प्रांतों से भी वह मुट्ठी के रेत जैसी सरकती जा रही है. ...

Read More »

व्यभिचार लीगल हो जाने से टूट नहीं जाएगी विवाह संस्था

उच्चतम न्यायालय की पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 497 के साथ-साथ भारतीय दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 198(2) को असंवैधानिक करार दे दिया है और साथ ही सरकार की दलील कि इससे शादी की पवित्रता को आघात लगेगा और विवाह जैसी संस्था कमजोर होगी को ...

Read More »