Thursday , July 2 2020

हमारे कॉलमिस्ट

सरकार इतनी कीमत मत बढ़ाइये आप का खजाना खाली तो आम जनता का कहां भरा है

राजेश श्रीवास्तव पिछले 22 दिनों से पूरे देश मंे जहां पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार कुछ न कुछ बढ़ोत्तरी हो रही हैं। वहीं दिल्ली में तो डीजल पेट्रोल से भी महंगा बिक रहा है। शायद दिल्ली नया इतिहास गढ़ रही है। लेकिन जब यह स्थिति तब है जब क्रूड आयल ...

Read More »

लालू प्रसाद के वफादार नेताओं का विश्वास जीतने में तेजस्वी नाकाम रहे हैं!

प्रवीन बागी  आरजेडी के 5 एमएलसी का जेडीयू में शामिल होना और पार्टी के सीनियर उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह का पद से इस्तीफा, तेजस्वी यादव के नेतृत्व के लिए के लिए बड़ी चुनौती है।आरजेडी में अभी भी वरिष्ठ नेताओं का ऐसा एक वर्ग है जो तेजस्वी को नेता के रूप ...

Read More »

हंस के सम्पादक संजय सहाय ने प्रेमचन्द के लेखन को कहा कूड़ा

सर्वेश तिवारी श्रीमुख वस्तुतः प्रेमचंद उस युग के कथाकार थे जब लेखक केवल लिखता था, एजेंडाबाजी नहीं करता था। प्रेमचंद और संजय सहाय दोनों में एक समानता है कि दोनों ने हंस पत्रिका का सम्पादन किया है। और दोनों में एक अंतर भी है कि प्रेमचंद उस पीढ़ी के लेखक ...

Read More »

चीन की चुप्पी का अर्थ क्या है ?

डॉ. वेद प्रताप वैदिक गालवान घाटी में हुई मुठभेड़ के बाद भारत में कितना कोहराम मचा हुआ है। हमारे विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और प्रधानमंत्री को सफाइयों पर सफाइयां देनी पड़ रही हैं, प्रधानमंत्री कार्यालय को प्रधानमंत्री की सफाई को और भी साफ-सूफ करना पड़ रहा है, विरोधी दल ऊटपटांग ...

Read More »

भ्रष्टाचार पर यदि चीन की तरह ही हम भी हमला करें तो भारत बन सकता है चीन से भी अधिक मजबूत

सुरेन्द्र किशोर फिर भी यदि हम चीन से एक मंत्र सीख लें तो हम इतने मजबूत हो जाएंगे कि चीन कभी भी हमारी ओर आंख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं कर पाएगा। हमें यह सीखना चाहिए कि चीन सरकार अपने यहां के भ्रष्टाचारियों से कैसे निपटती है। साथ ही, अपने ...

Read More »

बदले बदले से दिखे नरेंद्रभाई !

के विक्रम राव (19 जून 2020 को) लद्दाख पर हुई सर्वदलीय बैठक में नरेंद्र दामोदरदास मोदी Narendra Modi बड़े उन्मन लगे| नखहीन व्याघ्र की मानिंद| संसद में तो प्रधान मंत्री बड़े कट्टर बैरीदमन, अरिसूदन, रिपुमर्दन, शत्रुहन्ता, गिर के शेर बबर जैसे लगते हैं| बैठक में बड़े शांत भाव से दिखे| ...

Read More »

उद्योगपतियों की लूटपाट , चीन के साथ कम्युनिस्टों की वफादारी और सरहद पर लड़ती सेना

दयानंद पांडेय भारत के उद्योगपतियों ने अगर देश के अपने उपभोक्ताओं के साथ गद्दारी न की होती , उपभोक्ताओं को सिर्फ लूट का कारखाना न माना होता और बनाया होता तो चीनी सामानों के बहाने हर साल देश का अरबो रुपए चीन की तिजोरी में न जाता कभी। जब तक ...

Read More »

सोनिया गांधी जवाब दे कि भारत का 43 हजार 180 वर्ग मील भूभाग चीन ने किसकी सरकार में हड़पा

पद्मपति शर्मा एक बात देश के सामने लगभग स्पष्ट हो चुकी है कि कांग्रेस के आला कमान यानी नेतृ वर्ग की निष्ठा भारत के साथ नहीं बल्कि उसके दुश्मन देशों पाकिस्तान और चीन के साथ है। पिछली कुछ घटनाओं मे देश ने आश्चर्य जनित क्षोभ और ग्लानि के साथ देखा ...

Read More »

प्रधानमंत्री जी ! कोरोना संक्रमण को रोकने की कोई कारगर नीति बनाइये अर्थव्यवस्था बढ़ने का भ्रम न दिखाइये

राजेश श्रीवास्तव पिछले दो दिनों से आम जनमानस के बीच इस तरह के सवाल उठने लगे हैं कि आखिर सरकार लॉक डाउन की तरफ क्यों नहीं बढ़ रही है। वह भी तब जब भारत में अब यह संख्या प्रतिदिन तेरह से 15 हजार तक बढ़ रही है और मरने वालांे ...

Read More »

नरेन्द्र मोदी जवाब दें ! सीमा पर क्या चल रहा है ? देश को बतायें

के विक्रम राव विपक्षी कांग्रेस के तीन मनोनीत अगुवाओं ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा है कि सीमा पर क्या चल रहा है ? देश को बतायें | सोनिया गाँधी का सवाल है कि कितनी और कबसे चीन भारत भूमि कब्जाए है ? राहुल गाँधी ने सचेत किया कि: ...

Read More »

भारत अब गढ़े नई दुनिया

डॉ. वेद प्रताप वैदिक भारत आठ साल बाद फिर आठवीं बार सुरक्षा परिषद का सदस्य चुन लिया गया है। यह पहले भी सात बार उसका सदस्य रह चुका है। यह सदस्यता दो साल की होती है। सुरक्षा परिषद में कुल 15 सदस्य हैं। उनमें से पांच- अमेरिका, रुस, चीन, ब्रिटेन ...

Read More »

‘हम एक डिप्रेस्ड पीढ़ी तैयार कर रहे हैं’

तृप्ति शुक्ला हमने सामाजिक तौर पर सामान्यता और श्रेष्ठता के कुछ पैमाने गढ़े। जो इन पैमानों से थोड़ा भी इधर-उधर हुए, उन्हें हमने असामान्य और निम्न घोषित कर दिया। मसलन- कोई स्त्री या पुरुष, बालक या बालिका के पैमाने पर फिट नहीं बैठा तो उसे हमने समाज से बेदखल कर ...

Read More »

लाशों पर सियासत न हो

के विक्रम राव बीस भारतीय सैनिक, जिनकी लाशें सीमा पर चीन ने लौटाई हैं, उन्हें पीटकर, कूटकर मारा गया, शस्त्रों से नहीं| शव यही दर्शाते हैं| अर्थात हलाल की पद्धति में धीमे-धीमे हत्या की गई| तड़पा कर, यातना दे-दे कर| घूंसे, मुक्के, लात, लाठी, बेटन ही शायद प्रयुक्त हुए हों| ...

Read More »

भ्रष्टाचार कोई करे, दाग तो सीएम पर ही लगता है

अजय कुमार लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकारी भ्रष्टाचार कैंसर की तरह जड़े जमाए हुए है। गत वर्ष इंडियन करप्शन सर्वे ने जब 2019 की रिपोर्ट तैयार की तो इसमें सबसे भ्रष्ट राज्यों की सूची में चैथे नंबर पर उत्तर प्रदेश का नाम आया। सर्वे टीम ने जिन लोगों से बात ...

Read More »

बड़ी नीक होती है खेल भावना

के. विक्रम राव यकीन नहीं होता| पर यह वाकया है सच| क्योंकि खेल की भावना से जुड़ा है, इसीलिए शायद| एक पुरानी घटना बरबस याद आ गई| बरलाडा (स्पेन) में विश्व दौड़ (रेस) प्रतिस्पर्धा (जनवरी 2013) हो रही थी| अंतिम दौर में केवल दो धावक बचे थे| स्पेन का चौबीस-वर्षीय ...

Read More »

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति