Tuesday , June 18 2019

हमारे कॉलमिस्ट

सूर्योदय बेला में ही अस्त हो गया पत्रकारिता का ‘सूर्य’

मनोज दुबे  उत्तर प्रदेश के पत्रकारिता जगत की दबंग हस्ती और मुझ पर दशकों से अनवरत अपने स्नेह की वर्षा करते रहने वाले श्री राजनाथ सिंह ‘सूर्य’ आज सूर्योदय की बेला में ही यकायक अस्त हो गये। पिछले कुछ वर्षों से उनका शरीर तो शिथिल होता जा रहा था, किन्तु ...

Read More »

अपनी गलतियों के चलते अखिलेश न घर के रहे न गठबंधन के (अखिलेश की गलतियां : पार्ट – 5)

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का राजनीतिक ग्राफ जिस तरह से बीते दिनों गिरा है उससे साफ है कि वह इस समय अपने कैरियर के सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं। वह न घर के रहे न गठबंधन के। 2०17 में यूपी की सत्ता गंवाने के ...

Read More »

क्यों अखिलेश यादवों के सम्मान को ठेस पहुंचा बन गये यूज एंड थ्रो (अखिलेश की गलतियां : पार्ट-4)

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । अब जब बसपा सुप्र्रीमो मायावती ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को यूज एंंड थ्रोे की तरह इस्तेमाल करके किनारे कर दिया है तब यादव लैंड पर सबसे ज्यादा अखिलेश की किरकिरी हुई है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिस दिन कन्न्नौज केे मंच पर डिंपल यादव ...

Read More »

मीडिया से विपक्ष की दूरी रणनीति या चुरा रहे मुह

राजेश श्रीवास्तव बीते 23 मई को केंद्र में नरेंद्र दामोदर दास मोदी को दोबारा भारी भरकम जनसमर्थन देकर प्रधानमंत्री बनाने के बाद विपक्ष खासकर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और रालोद ने टीवी डिबेटों, टीवी चैनल पर बाइट देने या पत्रकारों से बातचीत करने पर अपने प्रवक्ताओं पर पूरी ...

Read More »

अखिलेश नहीं समझ पा रहे मोदी रिपब्लिक में आगे का रास्ता बहुत मुश्किल (अखिलेश की गलतियां : पार्ट-3)

अपनों के बिछाए जाल में फंस गए अखिलेश यादव राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने राजनीतिक जीवन के सबसे मुश्किल दौर से गुज़र रहे हैं। अपने अब तक के अंतिम प्रयोग में असफल होने के बाद जब बसपा अध्यक्ष मायावती ने भी उनसे किनारा कर ...

Read More »

अपनों की वजह से अखिलेश ने गंवाई अपनों की सीटें, सपा की हार में प्रसपा को मिल रहा जीत का मजा (अखिलेश की गलतियां : पार्ट 2)

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । लोकसभा चुनाव 2०19 के नतीजों से समाजवादी पार्टी को काफी झटका लगा है। डिपल, धर्मेंद्र और अक्षय की हार से समाजवादी पार्टी एक बार फिर गहरे संकट में है। समाजवादी पार्टी के परिवार की तीनों सीटों पर हार से यह साफ है कि सपा से अलग ...

Read More »

सरकारी रंगदारी: पहले एकमुश्‍त रोड TAX, फिर कदम-कदम पर टोल TAX, वो भी बदहाली-बदइंतजामी और बदतमीजी के साथ

सुरेन्‍द्र चतुर्वेदी रंगदारी TAX केवल सड़क छाप गुंडे-बदमाश और बाहुबली का खिताब प्राप्‍त कुख्‍यात माफिया डॉन ही नहीं वसूलते, सरकार भी वसूलती है। फर्क सिर्फ इतना है कि गुंडे-बदमाश और माफिया डॉन के रंगदारी TAX की वसूली के खिलाफ किसी न किसी स्‍तर पर शिकायत की जा सकती है परंतु ...

Read More »

विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय पार्टी से तो लोकसभा चुनाव में क्षेत्रीय दल से समझौता (अखिलेश की गलतियां : पार्ट-1)

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । अखिलेश यादव द्बारा बसपा के साथ किया गया गठबंधन अब जब टूट गया है या यूं कहें कि तकनीकी रूप से अब बस केवल इसका ऐलान होना बचा है तब अखिलेश यादव के द्बारा उठाये गये सियासी कदमों पर चर्चा भी शुरू हो गयी है। हम ...

Read More »

ये मायावती का पुराना मिजाज है, पंचों की राय सिर माथे पर लेकिन खूंटा तो वहीं रहेगा

दयानंद पांडेय पंचों की राय सिर माथे पर लेकिन खूंटा वहीँ रहेगा । मायावती का यह पुराना मिजाज है । कोई नई बात नहीं है। यादव वोट का ट्रांसफर न हो पाना महज बहाना है। मायावती का यह गाना पुराना है। मिजाज ही है , आपन भला , भला जगमाही। ...

Read More »

ओवैसी साहब इस देश में शर्तिया किरायेदार हैं

प्रखर श्रीवास्तव मुसलमानों के लिए ओवैसी ने कहा कि – “हम यहां पर बराबर के शहरी हैं… किराएदार नहीं हैं, हिस्‍सेदार रहेंगे”… इस मुद्दे पर देश के बाकी मुसलमानों की बात बाद में करेंगे लेकिन जहां तक ओवैसी साहब की बात है वो इस देश में शर्तिया किरायेदार हैं… जी ...

Read More »

…तो यूपी में महागठबंधन का खेल खत्म!

झूठा आरोप लगा कर अखिलेश पर ठीकरा फोड़ रहीं मायावती मायावती खुद अपना वोट नहीं ट्रांसफर करा पायी और आरोप लगाया अखिलेश पर राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । चुनाव आते ही यूपी मंे सपा-बसपा का गठबंधन टूट जायेगा, भाजपा के इस ऐलान को खुद मायावती इतनी जल्दी चरितार्थ कर देंगी, इस ...

Read More »

महिला फ्री यात्रा- अगर देना है, तो तत्काल प्रभाव से लागू कीजिए, चालबाजी ना दिखाइये

शरत चंद्र सांस्कृत्यान केजरी सर ने दिल्ली में महिलाओं के लिए मेट्रो-डीटीसी में यात्रा फ्री करने की घोषणा की है, बड़ी अच्छी बात है, बिल्कुल करनी चाहिए, लेकिन इस शातिर दिमाग की चालाकी देखिए, फैसला तत्काल प्रभाव से लागू नहीं होगा, अधिकारी इस पूरी योजना पर रिपोर्ट तैयार कर चार ...

Read More »

राहुल जी! समय मिले तो समीक्षा कीजिएगा, आप क्यों हारे, आपके पास तो 5० हैं भाजपा के पास तो कभी दो थे

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ । राहुल गांधी इन दिनों अपने इस्तीफे को लेकर अड़े हुए हैं। लेकिन यह समय आपके इस्तीफे का नहीं है। यह समय विचार करने का है कि आप क्यों हारे ? आप इस पर मंथन करिये। ऐसा नहीं कि आज सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी कभी ...

Read More »

राम से भी बड़ा हो गया है मोदी का नाम

राजेश श्रीवास्तव कुछ लोगों को आज यह शीर्षक अखरेगा तो कुछ को अतिशयोक्ति लगेगी लेकिन आलेख पढ़ने के बाद इससे बेहतर शायद कोई और शीर्षक नहीं हो सकता, आप यही कहेंगे। कभी कहा जाता था कि इस जीवन में कुछ भी हासिल करना है तो राम का नाम ले लीजिये ...

Read More »

वीर सावरकर का विरोध करने वाले कायर हैं

मनीष कुमार कांग्रेस और वामपंथी सहित सभी सेकुलरिस्ट पार्टियां विनायक दामोदर सावरकर का मूल्यांकन काफी संकुचित दायरे में करती है. वो सिर्फ वीर ही नहीं थे बल्कि वो महान क्रान्तिकारी, चिन्तक, लेखक और कवि भी थे. कांग्रेस जब अंग्रेजों का सेफ्टी वल्व बनकर ब्रिटिश सरकार के प्रति निष्ठा की शपथ ...

Read More »