Wednesday , February 28 2024

नौकरी का झांसा दे म्यांमार में 300 भारतीयों को बनाया बंधक, साइबर क्राइम करने को कर रहे मजबूर

नई दिल्ली। म्यांमार में 300 भारतीयों को बंधक बनाए जाने का मामला सामने आया है। इनमें से 60 लोग तमिलनाडु के हैं। जानकारी के मुताबिक इन लोगों को म्यांमार के म्यावडी में एक गैंग ने बंधक बनाया है। इन लोगों को यहां पर साइबर क्राइम करने पर मजबूर किया जा रहा है। यहां पर कई अन्य देशों के लोगों को भी बंधक बनाकर रखा गया है। बताया जाता है इन सभी को नौकरी झांसा देकर ले जाया गया था।

‘मलेशियन चाइनीज’ ने बनाया बंधक

बताया जाता है कि सभी पीड़ितों को जिस म्यावडी में बंधक बनाया गया है, वह इलाका म्यांमार सरकार के नियंत्रण में नहीं है। यह इलाका एथनिक आर्म्ड ग्रुप के दबदबे वाला है। बंधक बनाए गए कुछ लोगों में अपने परिवार को संदेश भेजे थे। इसमें उन्होंने खुद को ‘मलेशियन चाइनीज’ लोगों द्वारा बंधक बनाए जाने की बात लिखी थी। यह मामला तब जानकारी में आया जब कुछ तमिल लोगों ने शनिवार को एक एसओएस वीडियो भेजा। इसमें केंद्र और तमिलनाडु सरकार से उन्हें छुड़ाने की गुहार लगाई गई थी।

फैमिली को भेजा था वीडियो संदेश
इस वीडियो संदेश में बंधक बनाए गए लोगों ने कहा कि उन्हें 15-15 घंटे तक काम करने पर मजबूर किया जा रहा है। जब यह लोग अवैध काम करने से इंकार कर रहे हैं तो उन्हें पीटा जा रहा है और बिजली का झटका दिया जा रहा है। गौरतलब है कि म्यांमार में भारतीय एंबेसी ने 5 जुलाई को ही एडवाइजरी जारी की थी। इसमें आपराधिक तत्वों द्वारा नौकरी दिए जाने को लेकर चेतावनी दी गई थी।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch