Wednesday , February 28 2024

अतीक के पांच बेटे, पत्नी पर है इनाम, जेल में है भाई… बाहुबली के परिवार की जानें पूरी क्राइम कुंडली

भाई-बेटे-पत्नी... एक-एक करके सब बनते गए आरोपी, कैसे अर्श से फर्श पर आया अतीक  का परिवार - Umesh Pal Muerder Case Atique Ahmed Family Crimes Five Sons  wife shaista parveen lclv -प्रयागराज/लखनऊ। अपराधी से विधायक और विधायक से सांसद बने अतीक अहमद से तो सभी परिचित हैं, लेकिन अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन भी अब 25 हज़ार की इनामी हो गई है. पुलिस उसे खोज रही है. अतीक अहमद का निकाह कसारी मसारी की रहने वाली शाइस्ता से 2 अगस्त 1996 में बेहद साधारण परिवार में हुआ था. अतीक और शाइस्ता के पांच बेटे हैं.

अतीक इसके पहले भी जेल में बंद था. जमानत के बाद वो बाहर भी आया लेकिन 2019 से अतीक अहमद लगातार जेल में बंद है और इस वक्त गुजरात के साबरमती जेल में है. जब अतीक अहमद पहली बार जेल गया तो उसी वक्त विधानसभा का चुनाव भी लड़ा. तब उसकी चुनावी कमान बेटा उमर संभालने लगा और अतीक अहमद के लिए प्रचार किया.

जब उमर पर सीबीआई ने रखा था 2 लाख का इनाम

उमर पर भी अप्रैल 2018 में अपहरण और जेल में बिल्डर मोहित अग्रवाल से मारपीट के आरोप लगे. सीबीआई ने उसपर दो लाख का इनाम रखा और उसने 31 जुलाई को कोर्ट में सरेंडर किया. वो इस वक्त लखनऊ जेल में बंद है. जब अतीक अहमद का रसूख थोड़ा कम होने लगा तो अतीक का परिवार राजनीति में उतरा.

असदुद्दीन ओवैसी ने दिलाई थी शाइस्ता को AIMIM की सदस्यता

2021 में अतीक के परिवार ने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ज्वॉइन कर ली. इसके बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि ओवैसी की पार्टी अली को टिकट देगी लेकिन इसी बीच 31 दिसम्बर 2021 को अली पर अपने रिश्तेदार से 5 करोड़ की रंगदारी मांगने का आरोप लगा और पुलिस से बचने के लिए फरार हो गया.

पुलिस ने भी अली पर 50 हज़ार का इनाम रखा और उसने भी 31 जुलाई को कोर्ट में सरेंडर कर दिया वो नैनी सेंट्रल जेल में बंद है. अब माफिया अतीक अहमद की सियासी जमीन खिसक ना जाए इसके लिए अतीक की पत्नी शाइस्ता ने 5 जनवरी 2023 को बसपा की सदस्यता प्रयागराज में ले ली और बसपा के टिकट से मेयर लड़ने की तैयारी करने लगी.

जब बसपा में शामिल हुई थीं शाइस्ता परवीन

शाइस्ता को पूरी उम्मीद थी कि बसपा की मेयर प्रत्याशी बनेगी और चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया गया. अतीक अहमद की पत्नी अब घरेलू महिला से कुशल नेता बन गई थी. बसपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद शाइस्ता परवीन ने भाषण भी दिया था, जिसमें वह कुशल नेता की तरह जनता को संबोधित कर रही थी. सभी शाइस्ता परवीन के भाषण को सुन रहे थे.

शाइस्ता परवीन कहा था कि उनका पूरा परिवार हमेशा से बहनजी के साथ रहा है और उन्होंने कहा था कि उनके साथ न्याय होगा, लेकिन इसी बीच 24 फरवरी को धूमनगंज इलाके में उमेश पाल हत्याकांड हुआ, जिसमें अतीक अहमद का पूरा परिवार नामजद हुआ. अब अतीक की पत्नी शाइस्ता 25 हज़ार की इनामी हैं.

अतीक अहमद, पत्नी शाइस्ता परवीन, भाई अशरफ और बेटा असद

वहीं तीसरे बेटे असद पर ढाई लाख का इनाम घोषित है, वो भी फरार है. चौथा बेटा अहज़म और पांचवा बेटा अबान भी लापता हैं. तो कुछ ऐसे आया अर्श से फर्श तक अतीक अहमद का परिवार.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch