Sunday , April 21 2024

सावधान : चीन में क्यों बुखार की दवाएं जमा कर रहे लोग, ऑनलाइन सेल में 100 पर्सेंट इजाफा

चीन में इन दिनों बड़े पैमाने पर बुखार की दवाइयां स्टॉक कर रहे हैं। इसके चलते ऑनलाइन खरीददारी में 100 गुना तक का इजाफा हो गया है। बीते साल के मुकाबले इस इजाफे की वजह कोरोना का डर भी माना जा रहा है। चीन ने जीरो कोविड पॉलिसी में अचानक ढील दी है और करोड़ों लोग अब मार्केट में निकल रहे हैं, दफ्तर जा रहे हैं। इसके अलावा दूसरे देशों के नागरिकों को भी वीजा जारी किया जा रहा है। ऐसे में चीन में कोरोना के मामले बढ़े हैं। जेनेरिक नाम ओसेलटैमिविर से बेची जाने वाली बुखार की दवा की खरीद ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

उन्होंने कहा कि बड़े पैमाने पर दवाओं की खरीद के चलते बाजार में स्टॉक कम हुआ है और कीमतों में इजाफा हो रहा है। दरअसल चीन सरकार ने बीते साल के आखिर में जीरो कोविड पॉलिसी को अचानक ही पूरी तरह समाप्त कर दिया था। इसके बाद से ही केसों में इजाफा हुआ। हालांकि अब कोरोना के मामले कुछ कम हुए हैं, लेकिन लोगों में डर कायम है। ऐसे में लोग बड़े पैमाने पर बुखार की दवाएं खरीदकर घर में ही रखना चाहते हैं। वांग रुइझे ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि कुछ लोग ऐंटी-वायरल दवाओं को जमा कर रहे हैं। बच्चों में बुखार के मामले बढ़ने से पैरेंट्स में डर बढ़ा है।’

5 मार्च को शुरू हुए सप्ताह में भी बुखार के केसों में इजाफा देखने को मिला है। बीते सप्ताह में बुखार का पॉजिटिविटी रेट 42 फीसदी के करीब देखने को मिला है। इससे पहले यह 25 फीसदी ही था। बता दें कि चीन में जीरो कोविड पॉलिसी खत्म किए जाने के बाद दूसरे देशों में भी कोरोना को लेकर डर बढ़ा है। हालांकि भारत समेत कई देशों में अब तक हालात नियंत्रण में ही हैं।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch