Tuesday , June 18 2024

सचिन ही नहीं, गुलाम से भी किया था प्यार! मर्जी से की थी शादी, सामने आया सीमा का हलफनामा, जानें क्या है उसमें

सीमा हैदर को पबजी गेम खेलते हुए सचिन मीणा से मोहब्बत हुई और वह पाकिस्तान छोड़कर नेपाल के रास्ते भारत आ गई. (News18 India)नई दिल्ली। इन दिनों देश में सीमा हैदर और सचिन मीणा की प्रेम कहानी के चर्चे हैं. सीमा पबजी गेम खेलते खेलते सचिन के प्यार में ऐसा पड़ी कि अपना देश पाकिस्तान छोड़कर नेपाल के रास्ते भारत आ गई. अब उसकी प्रेम कहानी में नया मोड़ आ गया है. सीमा ने सचिन से ही नहीं बल्कि पाकिस्तानी नागरिक गुलाम से भी प्यार किया था. गुलाम, सीमा हैदर का पति है, जिसे वह छोड़कर भारत आ गई है और सचिन के साथ रह रही है.

न्यूज18 इंडिया पर सीमा हैदर के पति गुलाम हैदर ने एक हलफनामा दिखाया है, जिसमें लिखा है कि सीमा हैदर ने अपनी मर्जी से गुलाम से शादी की थी. सीमा हैदर ने अपनी जो उम्र बताई थी, वह उसके द्वारा पाकिस्तान में दाखिल किए गए हलफनामे से अलग है. करीब 8 साल पुराने इस हलफनामे में सीमा अपनी मर्जी से परिवार छोड़ने और गुलाम हैदर से शादी की बात करती है.

शपथ पत्र में सीमा हैदर के हवाले से लिखा है

1. मैं साई जूरिस हूं और अपनी बेहतरी और सुखी जीवन जीने के लिए सभी पर विचार कर सकती हूं. इसलिए मैं अपनी बेहतरी और शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए कामना और सहमति भी दे सकती हूं.

2. लगभग 10 दिन पहले मैंने अपने माता-पिता का घर इस कारण छोड़ दिया था कि मेरे माता-पिता जो लालची व्यक्ति हैं, जबरन मेरी शादी बिना किसी उचित विचार-विमर्श के एक ऐसे व्यक्ति से करना चाहते थे, जो एक आवारा किस्म का आदमी था. उनकी इच्छा और सहमति जो मुझे पसंद नहीं थी, इसलिए मैंने अपने माता-पिता का घर छोड़ने का इरादा किया.

3. यह कि उपरोक्त कारणों से मैं लगभग 10 दिन पूर्व 3 कपड़ों में अपने माता-पिता का घर छोड़कर सीधे अमीर लान के घर आ गई हूं.

4. गुलाम मुहम्मद लाखरा पुत्र लाल खां जखरानी, निवासी तालुका गढ़ी खैरो, जिला जकोबाबाद, जो हमारे साथ दौरे पर हैं. वहां थेनेस सईद अल खान जखरूनी के घर में रहते हैं, जो बहुत अच्छे हैं. वह मुझे बहन की तरह मानते हैं.

5. मेरी अपनी इच्छा से, सहमति से, बिना किसी दबाव, भय के, मुझ पर किसी भी ओर से कोई दबाव डाले बिना, मैंने गुलाम हैदर जखरानी के साथ विवाह अनुबंध करने का फैसला किया है, क्योंकि मुझे लगता है कि वह मुझे अपनी पत्नी के रूप में रखेगा और मैं खुशहाल जीवन गुजारुंगी.

6. मैं शपथ लेती हूं कि यह शपथपत्र मैं बिना किसी दबाव, भय के, स्वेच्छा से आवश्यकता के समय साक्ष्य के रूप में मानूंगी.

न्यूज18 इंडिया ने गुलाम हैदर की ओर से दिखाए गए हलफनामे को लेकर जब सीमा हैदर से सवाल किया तो उसने कहा, ‘मैंने तो आजतक अपने पूरे जीवन में पाकिस्तान का कोई कोर्ट नहीं देखा है और मुझे पढ़ना भी नहीं आता है. सीमा ने दावा किया कि पाकिस्तान में रहकर गुलाम हैदर कुछ भी कर सकता है. हमारी शादी कागजी हुई थी. सीमा ने कहा कि मैं यहां के सरकार से अपील करती हूं कि अगर गुलाम हैदर की सुन रहे हैं तो मेरी भी सुन लें. मैंने अभी तक एक भी बात झूठ नहीं बोली है. सीमा ने खास बातचीत के दौरान कहा, ‘मैं पाकिस्तान नहीं जाना चाहती हूं.’ सीमा ने आरोप लगाया कि गुलाम हैदर जो हलफनामा दिखा रहा है, उस पर जबरदस्ती उसका हस्ताक्षर लिया गया था.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch