Tuesday , June 18 2024

भीतर, बाहर, घुसाओ… नीतीश कुमार को सुन रोने लगी महिला MLC, तेजस्वी यादव बोले- यह सेक्स एजुकेशन, गलत मतलब न निकालें

तेजस्वी यादव नीतीश कुमारजनसंख्या नियंत्रण को समझाने के क्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 7 नवंबर 2023 को विधानमंडल के दोनों सदनों में कुछ ऐसा कह दिया जिसके लिए अब उनसे माफी की माँग की जा रही है। हालाँकि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने इसे ‘सेक्स एजुकेशन’ बताकर उनके बयान का बचाव किया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा में कहा था, “अगर पढ़ लेगी लड़की, और जब शादी होगा तब लड़का लड़की का तो जो पुरुष है वो तो रोज रात में शदिया होता है उसके साथ करता है ना उसी में और पैदा हो जाता है। लड़की पढ़ लेती है तो हमको मालूम था कि उ करेगा ठीक है! लेकिन अंतिम में भीतर मत घुसाओ उसको बाहर कर दो! करता तो है।”

राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि नीतीश कुमार से इस बयान को लेकर माफी की माँग की है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में दिया गया नीतीश का बयान इस देश की हर महिला के सम्मान और स्वाभिमान के खिलाफ है। यह घटिया बयान हमारे समाज पर एक गहरा धब्बा है।

वहीं बिहार विधान परिषद में भाजपा पार्षद निवेदिता सिंह नीतीश के इस बयान पर दुखी होकर रोने लगीं। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, “ये क्लास है क्या? यहाँ नियम बनता है, संविधान बनता है, कानून बनाए जाते हैं। यहाँ सेक्सुअल क्लास हो रहा है क्या? यहाँ किसी का सेक्सुअल हैरासमेंट हुआ है क्या?”

आगे उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री ऐसा बयान कर रहे हैं जैसे खुद के साथ घटित हो रही हो घटना। बड़ा प्रैक्टिकल तरीके से मुख्यमंत्री बता रहे थे और कहीं से सम्बन्ध नहीं था इस विषय का। हम सब मुख्यमंत्री को सुनने के लिए बैठे हुए थे, ये जातीय गणना के बारे में सुनने के लिए। हम उसका स्वागत करते हैं। अब उन्होंने पूरे ही सेनेरियो को ही चेंज कर दिया। अब इसके लिए जितनी भी निंदा की जाए मुख्यमंत्री की, उतना कम है। आज का दिन बिहार विधान परिषद के लिए काला धब्बा है।”

बिहार भाजपा ने भी नीतीश पर हमला बोलते हुए एक्स (पहले ट्विटर) पर लिखा, “भारत की राजनीति में नीतीश बाबू जैसा अश्लील नेता देखा नहीं होगा। नीतीश बाबू के दिमाग में एडल्ट ‘B Grade’ फिल्मों का कीड़ा घुस गया है। सार्वजनिक रूप से इनके द्विअर्थी संवादों पर पाबंदी लगानी चाहिए। लगता है संगत का रंगत चढ़ गया है!”

जहाँ कई नेताओं ने नीतीश कुमार के इस बयान की आलोचना की वहीं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव इसके बचाव में उतर आए। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार विधानसभा में सेक्स एजुकेशन के बारे में बात कर रहे थे। जब भी सेक्स एजुकेशन को लेकर बात होती है तो लोग शर्माते हैं। इसका गलत मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch