Sunday , February 25 2024

‘राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस ने कुश्ती को राजनीति का अखाड़ा बनाया’: ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहलवान बोले- जब अध्यक्ष थे तो सबको पसंद थे बृजभूषण सिंह

योगेश्वर दत्तभारत के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान और अब बीजेपी नेता योगेश्वर दत्त ने राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस पार्टी पर निशाना साधा है। राहुल गाँधी के हरियाणा के झज्जर जिले में पहलवानों के पास अखाड़े में जाने को लेकर उन्होंने राहुल गाँधी को आड़े हाथों लिया है। योगेश्वर दत्त ने कहा कि राहुल गाँधी को पहलवानों की याद तब आई, जब अब कुश्ती फेडरेशन को भंग किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जो कुछ हो रहा है, उसे कॉन्ग्रेस करवा रही है।

योगेश्वर दत्त ने कहा, “अब आंदोलनकारी पहलवान भी रेसलर्स नहीं रहे, वे नेता हो गए हैं। वे कॉन्ग्रेस के साथ मिलकर सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदलने के लिए काम कर रहे हैं।” उन्होंने कहा कि भाजपा सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह करीब 11 साल तक कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष रहे। जब तक वो पद पर थे, तब तक सभी उन्हें पसंद करते थे और जब उनका कार्यकाल खत्म हो गया तो उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, योगेश्वर दत्त ने कहा कि कॉन्ग्रेस ने कुश्ती के अखाड़े को राजनीति के अखाड़े में बदल दिया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा और उनके बेटे दीपेंदर सिंह हुड्डा इस मामले पर शुरू से ही राजनीतिक रोटियाँ सेक रहे हैं। दत्त ने सवाल लहजे में पूछा है कि भारतीय कुश्ती संघ की नई कार्यकारिणी को कामकाज से रोक दिया गया है और नई कमेटी बना दी गई है, तब भी अवॉर्ड वापस हो रहे हैं। उन्होंने पूछा कि ये क्या हो रहा है?

योगेश्वर दत्त ने जूनियर खिलाड़ियों के भविष्य को लेकर भी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से विवाद की वजह से कोई प्रतियोगिता नहीं हो रही है। इससे नुकसान सिर्फ कुश्ती का हो रहा है और पहलवानों का हो रहा है। उन्होंने कहा कि जूनियर खिलाड़ियों की उम्र निकल गई और बिना किसी प्रतियोगिता में खेले ही बाहर चले गए। ऐसे में नुकसान सिर्फ पहलवानों का हो रहा है। कुश्ती के अखाड़े को राजनीति का अखाड़ा बना दिया गया।

बता दें कि राहुल गाँधी बुधवार (27 दिसंबर 2023) की सुबह हरियाणा के झज्जर जिले के छारा गाँव पहुँचे थे। उन्होंने अखाड़े में पहलवानों से मुलाकात की थी। इस दौरान राहुल ने पहलवानों के साथ बातचीत भी की थी और उनके साथ कसरत भी किया था। हालाँकि वो जब मैच पर उतरे तो बजरंग पुनिया ने उन्हें चित कर दिया। राहुल गाँधी ने पहलवानों के साथ बाजरे की रोटी और सरसों का साग भी खाया। रिपोर्ट के अनुसार लौटते समय गन्ने और मूली भी साथ ले गए।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch