Sunday , July 14 2024

कानपुर: सुलभ शौचालय में युवक की चाकुओं से गोद कर हत्या, दबंग कब्जाना चाहते थे उसका घर

कानपुर। कानपुर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया जब क्षेत्र के दबंगों ने एक युवक की सुलभ शौचालय में चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी. शौचालय में ताबड़तोड़ चाकुओं से हमले की सूचना पर हड़कंप मच गया, जब इसकी जानकारी मृतक के परिजनों को पता चली कोहराम मच गया. मौके पर पहुंची पुलिस युवक को हैलट अस्पताल ले गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

रेल बाजार थाना क्षेत्र स्थित कुम्हारमंडी में रहने वाली लीला गौतम प्राइवेट नौकरी करती हैं. वो परिवार में एकलौता बेटे रोहित (23) दो बेटियों प्रियंका और ज्योति के साथ रहती हैं. लीला के पति शिवकुमार बीते 15 साल से लापता हैं. रोहित गुरुवार को सुलभ शौचालय में शौच के लिए गया था. जहां पर पहले से घात लगाए बैठे जीतेन्द्र प्रजापति ,छोटू ,शिव नारायण ,राहुल, पुत्तन ने रोहित को पकड़ लिया. इसके बाद उस पर चाकुओं से ताबड़तोड़ हमला कर मौत के घाट उतार दिया.

मृतक की बहन प्रियंका ने बताया कि कुम्हारमंडी में हम लोग झोपड़ी बनाकर रहते हैं. जहां पर झोपड़ी बनी है वो लगभग 40 से 50 गज जमीन है. क्षेत्र में रहने वाला जीतेन्द्र प्रजापति उस जमीन पर कब्ज़ा करना चाहता है. जीतेन्द्र प्रजापति, राहुल, पुत्तन, छोटू लगातार रोहित पर घर खाली कराने के लिए दबाव बना रहे थे. लेकिन रोहित का कहना था कि मैं अपने परिवार के साथ कहा जाऊंगा और यह घर खाली नही करूंगा.

मृतक की मां लीला के मुताबिक लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही थी. कई बार उन्होंने इसकी शिकायत थाने जाकर पुलिस से की थी, लेकिन पुलिस ने फरियाद नहीं सुनी. उन्होने कहा कि अगर पुलिस हमारी फरियाद सुन लेती तो मेरे बेटे की जान बच जाती. मेरा बेटा सुलभ शौचालय गया था. जहां पर पहले से घात लगाए बैठे जीतेन्द्र प्रजापति, छोटू,शिव नारायण,राहुल, औरपुत्तन ने रोहित को दबोच लिया और उसकी हत्या कर दी.

डिप्टी एसपी अजीत सिंह के मुताबिक कुम्हारमंडी में ही राहुल गौतम और रोहित गौतम रहते हैं. दोनों का पारिवारिक विवाद था, जिस क्रम में राहुल ने रोहित को चाकू से मारा और हैलट में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी. राहुल गौतम को हिरासत में ले लिया गया है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin