Monday , July 22 2024

लखनऊ: CMS स्कूल में बच्ची से छेड़खानी का आरोप, परिजनों और छात्रों का स्कूल के बाहर हंगामा

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के अलीगंज सेक्टर ओ स्थित सिटी मॉन्टेसरी स्कूल में तीसरी क्लास की एक छात्रा के साथ कथित छेड़छाड़ का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। छेड़छाड़ का आरोप स्कूल में पढ़ने वाले 8वीं क्लास के एक छात्र पर लगा है। घटना 8 अगस्त की है। मामले में बच्ची के परिजनों का आरोप है कि जब उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करानी चाही तो पुलिस ने एफआईआर दर्ज कराने की जगह सुलह की बात की।

मामले में अब तक कोई ठोस कार्रवाई ना होने से रविवार देर शाम तक बच्ची के परिजन, स्कूली बच्चे और उनके पैरंट्स स्कूल के बाहर हंगामाकरते रहे। बच्ची के परिजनों की मांग है कि आरोपी छात्र के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच की जाए।

उधर अलीगंज सर्कल के सीओ दीपक कुमार ने कहा, ‘बच्ची के परिजनों ने शिकायत दी थी कि उनकी बच्ची के साथ एक लड़के ने छेड़छाड़ की है। मामला सामने आने पर दोनों पक्षों और प्रिंसिपल को बुलाकर बातचीत की गई। सीसीटीवी फुटेज में सामने आया कि आरोपी लड़के को उसके दोस्त ने एक गेम ट्रुथ ऐंड डेयर के तहत चैलेंज दिया था कि लड़कियों के बाथरूम में घुसकर दिखाओ। विडियो में लड़का टॉइलट में घुसता दिखा है।’

इस पूरे विवाद में स्कूल प्रिंसिपल ज्योति कश्यप की ओर से सफाई आई है। उन्होंने बयान जारी करते हुए कहा है कि एक दिन पहले कक्षा 8 के दो बच्चों ने आपस में एक गेम के लिए किसी बच्ची के पीठ की जिप खोलने की शर्त लगाई थी। इसे पूरा करने के लिए ही एक छात्र ने घटना को अंजाम दिया। प्रिंसिपल का कहना है कि किसी भी पक्ष ने कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई। छात्र के पिता ने सीओ को लिखित में माफीनामा दिया और छात्रा के माता-पिता ने लिखित में दिया कि वे कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं।

                                                                               स्कूल प्रिंसिपल की ओर से जारी बयान

पुलिस ने शनिवार को दोनों पक्षों को बुलाकर बातचीत की थी। शनिवार को एसएसपी और सीओ ने माना था कि बच्ची के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है और परिवार कोई कार्रवाई नहीं चाहता है। मगर परिवारवालों का आरोप है कि उनकी बच्ची के साथ छेड़खानी हुई है और इसी को लेकर स्कूल के अन्य बच्चे और उनके पैरंट्स रविवार देर शाम तक स्कूल के बाहर डटे रहे। खबर है कि विवाद बढ़ता देख स्कूल प्रशासन ने भी पैरंट्स को मेसेज भेज दिया है कि वह अपने बच्चों को सोमवार को स्कूल ना भेजें।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin