Sunday , July 21 2024

इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर मिला 21 देशों की करेंसी से भरा हुआ बैग…

नई दिल्‍ली। इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट की सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ ने लाखों रुपए की विदेशी नगदी के साथ एक शख्‍स को हिरासत में लिया है. मामला सोमवार सुबह करीब 9:15 बजे का है. हिरासत में लिए गए शख्‍स के कब्‍जे से करीब 81 लाख 86 हजार 630 रुपए की विदेशी नगदी बरामद की गई है. गैर कानूनी तरीके से विदेशी नगदी को विदेश ले जाने की कोशिश कर रहे इस शख्‍स को सीआईएसएफ ने कस्‍टम के हवाले कर दिया है. वहीं कस्‍टम ने आरोपी शख्‍स को गिरफ्तार करने के बाद विदेशी नगदी को जब्‍त कर लिया है.

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, यह मामला आईजीआई एयरपोर्ट के इंटरनेशनल सिक्‍योरिटी होल्‍ड एरिया का है. दरअसल, सुबह करीब 9:15 बजे प्री-इंबार्केशन सिक्‍योरिटी चेक एरिया में सीआईएसएफ के असिस्‍टेंट सब-इंस्‍पेक्‍टर मुसाफिरों के हैंड बैगेज की जांच कर रहे थे. जांच के दौरान, एक बैग में भारी तादाद में करेंसी नोट जैसी आकृति नजर आई. शक के आधार पर इस बैग को फिजिकल चेक के लिए रोक लिया गया. जांच में पता चला कि यह बैग अमित बाली नामक एक शख्‍स का है. जिसके बाद अमित बाली को मौके पर बुला लिया गया.

सीआईएसएफ ने अमित बाली की मौजूदगी में इस बैग को खोला. तलाशी के दौरान इस बैग के भीतर से 50110 अमेरिकी डॉलर, 30855 यूरो और 25000 पाउंड बरामद किए गए. पूछताछ के दौरान आरोपी अमित बाली बरामद की गई विदेशी नगदी के बाबत कोई भी वैद्य दस्‍तावेज प्र‍स्‍तुत नहीं कर सका. जिसके चलते, सीआईएसएफ ने विदेशी नगदी समेत आरोपी अमित बाली को कस्‍टम के हवाले कर दिया है. कस्‍टम ने इस अमित बाली के खिलाफ विभिन्‍न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. कस्‍टम अब यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि अमित बाली किसके कहने पर यह नगदी लेकर विदेश जा रहा था.

वहीं सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी अमित बाली आईजीआई एयरपोर्ट से लंदन के लिए रवाना होने वाला था. उसने लंदन जाने के लिए ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट BA-256 में अपनी टिकट बुक करा रखी थी. यह फ्लाइट सुबह 10:20 बजे आईजीआई एयरपोर्ट से लंदन के लिए रवाना होती है. अमित बाली फ्लाइट के बोर्डिंग शुरू होने के साथ ही प्री इंबार्केशन सिक्‍योरिटी चेक पर पहुंचा था. उसकी मंशा थी फ्लाइट छूटने की हड़बड़ी दिखाकर वह सुरक्षा एजेंसियों को चकमा दे देगा.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin