Monday , April 15 2024

क्या BJP में शामिल हो गए हैं एमएस धोनी? जानिए क्या है इस खबर का सच

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को लेकर अफवाह है कि उन्होंने राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थाम लिया है और वह लोकसभा चुनाव में पार्टी के टिकट पर चुनावी मैदान में अपनी किस्मत भी आजमा सकते हैं. हालांकि, हमारी पड़ताल कुछ और ही कहती है.

‘अमित शाह फैंस टीम’ (Amit Shah Fans Team) फेसबुक पेज से मंगलवार को जारी एक तस्वीर में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद अमित शाह को एमएस धोनी से हाथ मिलाते देखा जा सकता है. इस दौरान उनके साथ केंद्रीय रेल और ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद हैं.

इस तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा गया है, ”महेंद्र सिंह धोनी हुए भाजपा में शामिल, लड़ सकते हैं चुनाव. स्वागत नहीं करोगे माही भाई का.” चौंकाने वाली बात यह है कि अमित शाह और एमएस धोनी की मुलाकात के फोटो को ढाई हजार से अधिक लाइक्स मिल चुके हैं. वहीं, तकरीबन एक हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. साथ ही बिना सोचे-समझे फेसबुक यूजर्स फोटो पर धोनी को प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की कप्तानी संभाल रहे धोनी की ओर से इसको लेकर कोई बयान नहीं आया है. हालांकि, जांच-पड़ताल करने पर पता चला कि यह खबर पूरी तरह से गलत है.

दरअसल, यह तस्वीर बीजेपी के राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम ‘संपर्क फॉर समर्थन’ की है. इसके तहत साल 2018 में बीजेपी ने देशभर की दिग्गज हस्तियों के घर-घर जाकर लोकसभा चुनाव में बीजेपी का समर्थन करने के लिए संपर्क किया था. इसी कड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाह दिल्ली में धोनी से मिलने पहुंचे. इसी दौरान राजनीति और क्रिकेट से जुड़े दिग्गज महारथी हाथ मिलाते नजर आए. उनके साथ केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी भी मौजूद थे.

अगस्त 2018 में अमित शाह ने क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी से मुलाकात की थी.

क्यों नहीं है संभावना
आईपीएल में अपनी टीम के साथ बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे एमएस धोनी के राजनीति में आने की संभावना अभी न के बराबर हैं. दरअसल, बेहतरीन फॉर्म में चल रहे इस सलामी बल्लेबाज को इसी साल वर्ल्ड कप में अपना खेल दिखाना है. इसके अलावा वह मौजूदा दौर में इंडियन टी20 लीग के सबसे सफलतम कप्तानों में शुमार हैं. ऐसे में उनके राजनीतिक पार्टी में एंट्री की खबर कोरी अफवाह ही साबित होती है. हालांकि, वर्ल्ड कप के बाद सक्रिय क्रिकेट से धोनी के संन्यास की खबरें भी जोरों पर हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch