Wednesday , November 29 2023

भारत महाशक्ति है, अच्छे रिश्ते जरूरी हैं; दबाव में बदल गए कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के सुर

भारत महाशक्ति है, अच्छे रिश्ते जरूरी हैं; दबाव में बदल गए कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के सुरखालिस्तान के मसले पर भारत से पैदा हुए तनाव के बीच कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के सुर अब बदले नजर आ रहे हैं। कनाडा के पीएम ने कहा कि हम भी भारत के साथ अच्छे संबंधों को लेकर बेहद गंभीर हैं। जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर भारत पर आरोप लगाया था। ऐसे में अब उनका बदला हुआ रुख बता रहा है कि उनके तेवर नरम पड़े हैं। कनाडा के अखबार नेशनल पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रूडो ने कहा कि इस मामले के बाद भी हम भारत के साथ अच्छे रिश्तों को लेकर तत्पर हैं।

ट्रूडो ने दुनिया में बढ़ते भारत के कद का जिक्र करते हुए कहा कि यह कनाडा और उसके सहयोगी देशों के लिए अहम है कि वे भारत के साथ अच्छे रिश्ते बनाकर रखें। गुरुवार को मॉन्ट्रियल में मीडिया से बात करते हुए ट्रूडो ने कहा कि वैश्विक मंच पर भारत का कद लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में जरूरी है कि भारत के साथ कनाडा और उसके सहयोगी देश रचनात्मक एवं गंभीरता के साथ संबंध बनाए रखें। उन्होंने कहा, ‘भारत तेजी से बढ़ी आर्थिक शक्ति है और एक अहम भूराजनीतिक प्लेयर है। इंडो-पैसेफिक क्षेत्र में हमारे और भारत के बीच अच्छे संबंध होना जरूरी है।’

इसके अलावा हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले को लेकर ट्रूडो ने कहा कि भारत को इस मामले में सहयोग करना चाहिए ताकि सही तथ्य सामने आ सकें। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिकी विदेश मंत्री से भरोसा मिला है कि वह इस मामले को एस. जयशंकर से मुलाकात के दौरान उठाएंगे। हालांकि एस. जयशंकर से मुलाकात के दौरान ब्लिंकन ने इस मसले को नहीं उठाया और न ही इस संबंध में कोई बात हुई। नेशनल पोस्ट के मुताबिक ट्रूडो ने कहा, ‘भारत सरकार से बात करने में अमेरिकी भी हमारे साथ हैं।’

जस्टिन ट्रूडो अब दूसरे देशों से भी क्यों कर रहे मदद की अपील

उन्होंने अन्य देशों से भी अपील करते हुए कहा कि यह ऐसा मामला है, जिसमें उन सभी लोकतांत्रिक देशों को साथ आना चाहिए, जो कानून के शासन का सम्मान करते हैं। गौरतलब है कि जस्टिन ट्रूडो ने जी-20 समिट से लौटने के बाद कनाडा की संसद को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का आरोप भारतीय एजेंसियों पर लगाया था। खालिस्तानी हरदीप निज्जर की कनाडा के सरे में स्थित एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch