396 छात्रों को IIT भेजने वाले आनंद सर नहीं दे पाए 4 सवालों के जवाब

0

नई दिल्‍ली। प्राइम टाइम की अर्बन टीआरपी में कौन बनेगा करोड़पति कई बड़े शोज पर भारी पड़ रहा है. केबीसी सीजन 9 का दसवां एपिसोड तब खास बन गया, जब इसमें गरीब बच्चों को मुफ्त में तैयारी कराकर आईआईटी भेजने वाले आनंद कुमार शामिल हुए. उन्हें शो के ‘नई चाह नई राह’ में बुलाया गया था. शो का यह सेगमेंट शुक्रवार के दिन दिखाया जाता है. आनंद कुमार एकेडमिक्स हैं. वो सुपर-30 पटना के संस्थापक हैं और पिछले 15 सालों में उनके 450 छात्रों में से 396 ने आईआईटी-एनआईटी जैसे टॉप संस्थानों में दाखिला लिया है.

ऐसे में ये देखना और भी दिलचस्प था कि केबीसी के सवालों का जवाब वो कितनी चतुराई से देते हैं. आनंद ने पूरा गेम बहुत ही आत्मविश्वास और खुशमिजाजी के साथ खेला. बीच-बीच में अमिताभ उनसे उनकी जिंदगी से जुड़े किस्सों के बारे में भी बात करते रहे.

लेकिन कई छात्रों का भविष्य बनाने वाले आनंद कुमार शो में चार सवालों का जवाब नहीं दे पाए. इनमें एक सवाल आयुष मंत्रालय से संबंधित था. इस सवाल का जवाब देने के लिए आनंद को ऑडियंस पोल का इस्तेमाल करना पड़ा. इसका सही जवाब था-एक्यूपंचर

loading...

‘कौन बनेगा करोड़पति 9’ के 10वें एपिसोड में स्‍पेशल गेस्‍ट बने नजर आए आनंद कुमार ने इस 25 लाख रुपये जीते. लेकिन अपने सादे व्‍यक्तित्‍व और ‘सुपर 30’ के लिए प्रसिद्ध आनंद कुमार ने यहां सिर्फ पैसे ही नहीं, बल्कि लोगों का दिल भी जीता. 8 सितंबर यानी शुक्रवार के केबीसी के स्पेशल सेगमेंट ‘नई चाह, नई राह’के तहत बिहार के ‘सुपर 30’ के फाउंडर आनंद कुमार आए. आनंद कुमार यहां अपने एक स्‍टूडेंट के साथ हॉट सीट पर बैठे. उन्‍हें हॉट सीट पर बुलाते हुए अमिताभ बच्‍चन ने बताया कि उनकी फिल्‍म ‘आरक्षण’ के उनके किरदार के लिए आनंद कुमार ने उनकी काफी मदद की. साथ ही यह किरदार भी आनंद कुमार से ही प्रेरित था.

amitabh bachchan kon bnega crorepati facebook

केबीसी में आनंद कुमार का जोरदार स्‍वागत हुआ. वहीं शो में आनंद कुमार पर शूट की गई एक वीडियो भी सबके सामने दिखाया गया, जिसमें बताया कि कैसे वह अपने स्‍टूडेंट्स को अपने ही घर में रखते हैं और उनकी मां इन बच्‍चों को खाना बना कर खिलाती हैं. आनंद कुमार ने इस शो में गणित पढ़ाने का रोचक अंदाज भी बताया, जिससे वह स्‍टूडेंट्स को रुचि के साथ गणित पढ़ा पाते हैं.

kbc anand kumar
 वहीं बिग बी ने आनंद कुमार से उनकी जिंदगी की कठिन यात्रा के बारे में पूछा. शो में आनंद ने बताया कि उन्होंने अपनी जिंदगी में गरीब के दिन देखें हैं. वह कहते हैं, ‘पिताजी चाहते थे कि हम और पढ़ें लिखें, लेकिन उनका अचानक देहांत हो गया. उन्हें हार्ट अटैक हुआ. इसके बाद हमारे घर की हालत और खराब हो गई. तब मेरी मां ने पापड़ बनाना शुरू किया. ये पापड़ मैं और मेरा भाई, हम दोनों बेचने के लिए जाया करते थे. और कहते थे, ‘आनंद पापड़ वाला.. आनंद पापड़ वाला.’बता दें कि सुपर 30 के अभी तक 450 में से 390 से ज्‍यादा स्‍टूडेंट आईआईटी में सलेक्‍ट हो चुके हैं.
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बांग्लादेश: रोहिंग्या कैंपों में हिंदुओं को पढ़ाई नमाज, मिटाया महिलाओं के माथे का सिंदूर

म्यांमार में 25 अगस्त को 30 पुलिस चौकियों