बीजेपी में मोटा चंदा देकर महिला मोर्चा की महासचिव बन गईं रेयान इंटरनेशनल की मालकिन

0

लखनऊ। गुरुग्राम के जिस रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पद्युमन की मौत हुई है। उस स्कूल के मालिक को लेकर एक के बाद एक कई खुलासे होते जा रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के साथ स्कूल के प्रबंधकों की नजदीकियों का गवाह तो खुद वो तस्वीरें है जिसे स्कूल ने अपनी वेबसाइट पर लगा रखी है। लेकिन सूत्र बताते हैं कि स्कूल प्रबंधकों ने यूपीए की सरकार के वक्त कांग्रेस के करीब पहुंचने के लिए भी खूब जोड़तोड़ की लेकिन बात तब बन नहीं पाई थी। उसके बाद पिंटो ने बीजेपी का दामन थाम लिया था।

जिस वक्त देश में कांग्रेस की सरकार थी उस वक्त रेयान स्कूल की  प्रबंध निदेशक ग्रेस पिंटो ने सोनिया गांधी के नजदीक आने की बहुत कोशिश की लेकिन तब वो सफल नहीं हो पाईं। सूत्रों की मानें तो ग्रेस पिंटो उस वक्त अपने लिए शिक्षा क्षेत्र का पद्म पुरस्कार प्राप्त करने के लिए जमकर लाबिंग कर रही थी साथ ही चाहती थी कि उनके पति को अल्पसंख्यक आयोग में सदस्यता मिल जाए| लेकिन उस वक्त ग्रेस पिंटो को सफलता नहीं मिली।

बताया जाता है कि उसके बाद पिंटो ने साल 2014 में चुनाव के वक्त बीजेपी में मोटा चंदा देकर उसका दामन थाम लिया। जब भाजपा की सरकार आई तो वो महिला मोर्चा की महासचिव बन गईं और तबसे लगातार बतौर ईसाई अल्पसंख्यक सदस्य राज्यसभा में जाने की कोशिश कर रही हैं।

loading...

आपको जानकर हैरानी होगी कि आज रयान इंटरनेशनल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स (RIGI) में 18 हजार फैकल्टी मेंबर्स यानी टीचर काम करते हैं, ये टीचर 2 लाख 70 हजार छात्रों को शिक्षा देते हैं, भारत में इस ग्रुप के 130 से ज्यादा स्कूल हैं जबकि खाड़ी देशों में भी इस ग्रुप में अपने पांच स्कूल खोल रखे हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बांग्लादेश: रोहिंग्या कैंपों में हिंदुओं को पढ़ाई नमाज, मिटाया महिलाओं के माथे का सिंदूर

म्यांमार में 25 अगस्त को 30 पुलिस चौकियों