यात्रियों को विमान से जबरन उतारने के लिए पायलट ने इतना तेज कर दिया AC कि………..

नई दिल्ली। भारत में प्राइवेट कंपनियों की मनमानी रूकने के नाम नहीं ले रही है. पिछले दिनों फ्लाइट में ओवर बुकिंग के कारण एक यात्री को बैठने नहीं दिया गया और अब प्राइवेट एयरलाइन कंपनी के पायलट के अमानवीय व्यवहार का मामला सामने आया है. दरअसल, 20 जून को एयर एशिया की कोलकाता से बागडोगरा जा रही फ्लाइट में पायलट ने यात्रियों को उतारने के लिए एसी की मशीन को तेज कर दिया. एसी की मशीन का पावर हाई होने के कारण पूरे प्लेन में हवा भर गई, जिससे यात्री डर गए.

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के कार्यकारी निदेशक दीपांकर राय भी इसी विमान में सवार थे. उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम का एक वीडियो अपने ट्विटर पर शेयर किया है. उन्होंने लिखा, ‘भारत में एविएशन इंडस्ट्री आज इस तरह चल रही है. यह एयरएशिया सर्विस तो खास तौर से डरावनी थी..’  इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कैसे पूरी फ्लाइट के अंदर धुआ भर गया और यात्रियों में बाहर निकलने की होड़ सी मच गए. उन्होंने एयर एशिया के कर्मचारियों के गैर-पेशेवर व्यवहार का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि कोलकाता से 20 जून को यह फ्लाइट 4 घंटे देरी से उड़ी, जिसके कारण यात्रियों और क्रू मेंबर्स में काफी बहस भी हुई.

धुंध के कारण बिगड़ी लोगों की तबीयत
फ्लाइट जैसे ही बागडोगरा पहुंची, उस वक्त वहां पर काफी बारिश हो रही थी, ऐसे में लोगों ने फ्लाइट से निकलने से इनकार कर दिया. यात्री आगे क्रू मेंबर्स और पायलट से कुछ कहते इतने में ही पायलट ने एसी का पावर हाई कर दिया. उन्होंने बताया कि एसी की पावर हाई होने के कारण पूरे विमान में धुंध सी छा गई और लोगों को सांस लेने में दिक्कत होने लगी. इतना ही नहीं कुछ महिलाओं ने ट्रेन में ही उल्टी करना भी शुरू कर दिया.

एयर एशिया ने दी सफाई
वहीं, इस मामले में एयर एशिया ने सफाई देते हुए कहा है कि तकनीकी खामी के कारण उड़ान में चार घंटे की देरी हुई. वहीं, पायलट द्वारा एसी तेज करने के आरोप को कंपनी ने सिरे से खारिज किया है. कंपनी का कहना है कि ज्यादा आद्रता में एयर कंडिशन चलाने पर हर विमान में ऐसी समस्या आती है. कंपनी का दावा है कि यात्रा के दौरान और बाद में भी यात्रियों को आराम से एयरपोर्ट पर उतारा गया.

Loading...

You may also like

‘हिंदू पाकिस्तान’ के बाद थरूर का ‘हिंदू तालिबान’, अश्विनी चौबे बोले- जाएं पाकिस्तान

नई दिल्ली। ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाला बयान देने के बाद