Thursday , January 24 2019

2० नवंबर को हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार

लखनऊ । यूपी में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब तक एक बार भी अपने मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं किया है। बहुप्रतीक्षित योगी मंत्रिमंडल का विस्तार दीपावली पर्व के बाद होने जा रहा है। सूत्रों की मानें तो 2०19 की तैयारी के मद्देनजर योगी आदित्यनाथ अपनी टीम में बड़ा फेरबदल करने जा रहे हैं। जहां इस फेरबदल के लिए लखनऊ से लेकर दिल्ली तक कई बार मंथन हो चुका हैं। वहीं अब इस सूची पर अंतिम निर्णय कर लिया गया है। लेकिन दीपावली पर किसी की खुशियां कम न हों इसका खास ख्याल रखा गया है। दीपावली के बाद मंत्रिमंडल विस्तार किया जायेगा। यह विस्तार आगामी 15 से 22 तारीख के बीच किये जाने के आसार हैं। ज्यादा उम्मीद 2० नवंबर की जतायी जा रही है। फिलहाल मंत्रिमंडल में 13 पद खाली हैं। इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि करीब 8 से 1० नए मंत्री शपथ ले सकते हैं। इस मंत्रिमंडल विस्तार के माध्यम से सरकार एक बार फिर समीकरण साधने पर जोर देगी. मंत्रिमंडल में दलित ,गुर्जर और पश्चिमी क्षेत्र की नुमाइंदगी पर ज़ोर होगा

इन मंत्रियों की होगी छुट्टी

अनुपमा जायसवाल : बेसिक शिक्षा मंत्री
धर्मपाल सिंह : सिंचाई मंत्री
भूपेंद्र चौधरी : पंचायती राज मंत्री

संगठन से बनाये जाएंगे मंत्री

जेपीएस राठौर अशोक कटारिया
विद्या सागर सोनकर यशवंत सिंह
स्वाति सिंह का घटेगा कद

इनका बढ़ेगा कद

धर्म सिंह सैनी, ब्रजेश पाठक
महेंद्र सिंह, सुरेश पासी और
बलदेव सिंह ओलख

Loading...

ये भी बन सकते हैं मंत्री

पंकज सिंह – भाजपा
आशीष पटेल – अपना दल

सूत्रों के मुताबिक जिन मंत्रियों की सबसे ज्यादा शिकायत मिल रही हैं उनमें बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल का नाम है। फेरबदल की सूची में उनका नाम सबसे ऊपर है। बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल के अलावा सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह और पंचायत राज मंत्री भूपेंद्र चौधरी भी कसौटी पर खरे नहीं उतरे हैं। इन सभी की मंत्रिमंडल से विदाई का निर्णय ले लिया गया है। बस औपचारिकता भर बाकी रह गयी है। इसी तरह सरोजनी नगर क्ष्ोत्र से पहली बार भाजपा का कमल खिलाने वाली राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाति सिंह से भी पार्टी हाईकमान पूरी तरह खुश नहीं है। हालांकि उन्होंने पहली बार भाजपा का खाता खोला है इसीलिए मंत्रिमंडल से उनकी विदाई नहीं होगी लेकिन उनका कद जरूर घटाया जायेगा। सूत्रों की मानें तो पार्टी सांगठनिक लोगों को भी उपकृत करने का मन बना चुका है। चूंकि 2०19 करीब है इसलिए संगठन के लोगों को अहम पद देने के क्रम में संगठन से जुड़े उन लोगों को मंत्रिमंडल में लाने का निर्णय लिया गया है जिन्होंने बेहतर काम किया है। इस क्रम में जेपीएस राठौर, अशोक कटारिया, विद्या सागर सोनकर और यशवंत सिंह का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। जबकि जिन मंत्रियों ने उम्मीद से बेहतर काम किया है उनको और अधिक मजबूत किया जा रहा है। कानून मंत्री ब्रजेश पाठक को ब्राह्मण चेहरा के रूप मंे सामने लाकर पार्टी ब्राह्मणों को रिझाने का काम कर रही है। इसी तरह सरदारों को रिझाने के लिए बलदेव सिंह ओलख का भी कद बढ़ाने का निर्णय किया गया है। जबकि महेंद्र सिंह और सुरेश पासी को भी अहम विभाग देकर इनके गुटों व बिरादरी को भी प्रसन्न करने का मन बनाया गया है।

Loading...

About I watch

Check Also

Interim Budget: जेटली नहीं, पीयूष गोयल पेश करेंगे अंतरिम बजट, वित्त मंत्रालय का मिला अतिरिक्त प्रभार

नई दिल्ली। विदेश में इलाज करा रहे अरुण जेटली की जगह बजट से ऐन पहले ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *