सचिन, सौरव, लक्ष्मण पर पाटिल का सवाल, जो खुद कोच नहीं रहे, वो क्या चुनेंगे कोच?

0

नई दिल्ली। पूर्व चीफ सिलेक्टर संदीप पाटिल ने टीम इंडिया की कोच चयन प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए हैं. इस पूर्व क्रिकेटर की बेबाकी सुर्खियों में हैं, जिसमें उन्होंने कहा है कि सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएएस लक्ष्मण को कोच चुनने का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए था.

संदीप पाटिल ने गुरुवार को एक इंटरव्यू के दौरान क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) को आड़े हाथों लिया है. यह वही सीएसी है, जिसमें सचिन, सौरव और लक्ष्मण हैं, ने रवि शास्त्री को टीम इंडिया का अगला कोच नियुक्त किया है. पाटिल ने कहा, ‘सबकुछ गलत हुआ, सचिन, सौरव, लक्ष्मण भले ही कई कीर्तिमान रचे हों, लेकिन इनमें से किसी ने कोच के तौर पर कभी काम नहीं किया है. क्या कोच किसी को अंपायर चुन सकता है या कोई अंपायर किसी को कोच बना सकता है..?’

60 साल के पाटिल केन्या और ओमान क्रिकेट टीम के कोच भी रह चुके हैं. साथ ही वह 1996 में टीम इंडिया कोच रहे थे, लेकिन उनका कार्यकाल केवल 6 महीने ही रहा. पाटिल ने इस तथ्य पर भी नाराजगी जाहिर की कि सीएसी ने सोमवार को कोच घोषणा नहीं की.

loading...

गांगुली ने तब कहा था कि समिति को अधिक समय की जरूरत है और मौजूदा कप्तान विराट कोहली से बात जरूरी है. यह तो कुछ इसी तरह है कि, ‘देखो हमने अगले कोच की पहचान की है और अब आप पर इन्हें चुनना निर्भर है.’ क्या लोढ़ा समिति की सिफारिशों को देखते ऐसा तो नहीं किया गया?

संदीप पाटिल ने कहा कि इस मशहूर कमेंटेटर को कोच नहीं, बल्कि टीम मेंटोर या डायरेक्टर ही बनाया जाना चाहिए था. उन्होंने कहा कि पिछले साल मैंने गौतम गंभीर को यह कहते हुए सुना है था, ‘रवि से पूछो उन्होंने पिछले 18 महीने में नेट पर कितने थ्रो-डाउन किए हैं.’ इसलिए रवि को टीम डायरेक्टर पद ही सूट करता है.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

BHU प्रशासन ने सफाई देने में की गलती, छेड़छाड़ से पीड़ित लड़की की पहचान सार्वजनिक की

लखनऊ/वराणसी। बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में मचा बवाल अभी पूरी